शलीसी अदालत-बंगाल

  • Home
  • Blog
  • शलीसी अदालत-बंगाल
Blog, Blog 2014

शलीसी’ अदालत उस अदालत का नाम हैं जो बंगाल के गॉव में खाप कि तरह प्रचलित हैं| उतनी ही विभत्स उतना ही घृणित | पिछले दिनों जो सामूहिक बलात्कार कि दुखद घटना हुई वह उसी शलीसी अदालत का नतीजा था | खाप ही कि तरह इस अदालत में सरपंच सरवोच्च निर्णय लेता हैं जिसमे कई बार गरीब मारा जाता है अमीर किसान बच जाता हैं व्यतिगत बदले लिए जाते हैं जिसको वोट देना हैं बताया जाता हैं । सरकार इन तथागठित अदालत को समाप्त करना नहीं चाहती क्योंकि इनसे उन्हें फायदा मिलता हैं । इनके खिलाफ कोई आवाज़ नही उठा सकता जो उठाने का प्रयास भी करता हैं तो मारा जाता हैं |

तृण मूल बदलाव कि पार्टी थी , घास के उस कण कण की | क्या ममता दीदी ऐसा कुछ प्रयास करेंगी ? ममता दीदी हर विषय पर बहुत स्पष्ट बयान देती हैं , बहुत स्पष्ट सोच रखती हैं । वह लिखे तेवर कहीं दिखाई नही दे रहे हैं | मुझे दीदी का चुप रहना समझ नही आ रहा हैं दीदी के बहुत काबिल और समझदार डेरेक ओ ब्रायन भी कहीं नहीं नजर आ रहे हैं|

ऐसा कहीं साबित नहीं हुआ हैं पर ऐसा कहा जाता हैं कि शलीसी अदालत को राजनी तिज्ञो का प्राश्रय मिलता हैं | इस ‘शलीसी’ अदालत में निर्णय के द्वारा सब अपना उल्लू सीधा करते हैं| मरता , घुटता दबता हैं वही गरीब आम आदमी | कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि आदमी भी नहीं बल्कि महिला ही और सिर्फ अंततः महिला ही सबसे जयादा शोषित , प्रताड़ित , अपमानित सजा पाती हैं | मानो उसका शरीर , और उसकी आत्मा के कोई मायने ही न हो।

शरीर कमजोर मॉस का लोथडा जिसको जब जहाँ मसल दिया जाये !उसकी इज़ज़त के जब उसे क्या मायने जब उसे किसी अदालत में पुरुष मिलकर आदेश दें कि उस महिला को गॉव में निवस्त्र घुमाया जाये ? जब यह आदेश दिया जाए कि एक ओटलें पर उस महिला कॆ शरीर को लिटाकर एक के बाद एक पुरुष पुरे गॉंव के सामने , जानबूझ कर संभोग करें | किसी भी सभ्य समाज का चारित्रिक पतन इससे जयादा क्या हो सकता हैं ?

राहुल गांधी सिस्टम बदलना चाहते हैं | महिलाओं को सक्षम बनाना चाहते हैं लोक तंत्र को नीचे तक ले जाना चाहते हैं हेरान हूँ वे बिल्कुल चुप हैं |
क्यों?
अब कहा हैं उनका ‘गुस्सा ‘?
क्या खाप और शलीसी अदालत यूँही फलती फूलती रहेगी |मुझे छटपटाहट है ,उस सोच को बदलने कि | जब तक ऐसी अदालतें देश में चलती रहेगी, महिलाएं यूँही तड़पती रहेंगीं | उनकी कोई सुनवाई नहीं होगी | पुरुष अपनी मर्दांगनी इसी घृणित तरीके से प्रदर्शित करते रहेंगे |


Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *