हम नपुंसक हैं…….

  • Home
  • Blog
  • हम नपुंसक हैं…….
Blog, Blog 2015

हम नपुंसक है…….
कायर है हम, भीरु है हम, डरपोक कौम है हम ,शर्म आती है अपने आप पर हमारी आँखों के सामने कोई हमारी बच्ची को छेड़ता है और हम चुप रहते है!
धिक्कार है हम पर!
किसी गुण्डे की हिम्मत हो जाए कि वो हमारी आँखों के सामने हमारी बहन – बेटी को छेड़े तो हम अपना मुंह छुपा कर, आँखें नीची कर कायरों की तरह बैठ जाएँ ?
क्या हमारी रगों मे बहने वाला खून ठण्डा पड गया है ?
क्या उसमे अब उबाल नहीं आता ?
क्या बहन – बेटी की इज्जत पर हाथ डालने वाली हरकत हमारे खून मे रवानी नहीं ला सकती ?
यदि नहीं ,तो डूब मरो ! तुम्हें जीने का कोई हक़ नहीं !
क्या ऐसे हादसों के गवाहों ने कभी यह सोचा है कि जिस लड़की पर बीत रही रही थी , उसकी जगह उनकी बहन या बेटी होती तो क्या तब भी वो लोग ऐसे ही आँखें चुराते ?
दूसरों की बेटी , बेटी नहीं ? दूसरों की बहन , बहन नहीं ? स्वार्थी , निर्लज्ज , पुरुषो ! आजकल तो महिलाओं ने भी चूड़ियाँ उतार रखी हैं जो तुम्हारे मुंह पर दे मारती !
समस्या महिलाओं की नहीं है ,पुरषों की गन्दी ,घटिया सोच की है ! कहीं शराब का नशा तो कहीं सत्ता का ! लेकिन नशा सर छढ़ कर बोलता है कल संसद मे हरसिमरन कौर ने संसद मे राहुल गाँधी पर किसानों के नाम पर ड्रामा करने का पुरजोर इल्जाम लगाया था !
बुलंद आवाज मे भरी संसद मे उन्होंने राहुल गाँधी पर टिप्पणी करी थी ? क्या उसका बदला , बादल परिवार से आज इस तरह लिया गया ?
सत्ता के भूखे और लालची भेड़िये किस हद तक जा सकते है ,उसकी कल्पना आप और हम जैसे आम लोग नहीं कर सकते !
बस का मालिक होना बादल का दोष नहीं, लेकिन ऐसे नाजुक समय पर, गैर जिम्मेदार बयान देना उसका दोष जरूर है ! इससे वो बरी नहीं हो सकते ! जनाब यदि इस तरह के हादसे बसों मे होते रहते हैं तो तभी आप खुद की बहु – बेटियों को काले शीशे चढ़ी बड़ी गाड़ियों मे महफूज रखते हैं ! लानत है
ऐसी घटिया सोच पर !
बादल साहब, आप ही के प्रदेश, होशियारपुर का हनी सिंह अपने बेहूदा ,वाहियात गानों मे महिलाओं की इज्जत की धज्जियाँ उडाता है ! बेशर्मी की हद तक नीचे गिर कर लड़कियों पर तंज कसता है और उसके उन गानो पर पूरा हिन्दुस्तान थिरकता है ! बंद करवाइए यह बकवास ! महिलाओं की इज्जत शब्दों से उतारकर उन्हें जलील करना क्या वाकई ठीक है ?
पैसों के लिए कितना नीचे गिरोगे और समाज को कहाँ धकेल दोगे ?
पांच दरियाओं की धरती पंजाब, पंज – प्यारे की धरती पंजाब को क्या हो गया ?
कहाँ गए वो धरती , देश और धर्म के नाम पर सर कटा देने वाले शूरवीर , उबलते कड़ाहों मे डाल देने पर उफ़ न करने वाले साहसी योद्धा ?
इतिहास आज तुम पर शर्मसार हो रहा होगा।
शूरवीरों की धरती पर कायरों का काम !
कहते हैं जो अत्याचार करता है वो पापी होता है और जो सहता है वो महापापी ! हम और आप महापापी हैं ! जिन्होंने यह सब होते हुए देखा और प्रतिकार नहीं किया वो सबसे बड़े अपराधी ! आप सब की आत्मा से यह बदनुमा दाग कभी नहीं मिट पाएगा !
उठो , जागो और मारो !
बस अब और नहीं !
कोई गुण्डा तभी बनता है , जब हम उससे डरते हैं ! अपने डर को निकालो ! एक जुट होकर इनका सामना करो !
इन राक्षसों का अन्त होना जरूरी है ! राम नहीं बन सकते तो वानर सेना बन कर इन पर टूट पड़ो !
पुरुष हो , पौरुष दिखाओं !
तुम नपुंसक नहीं हो !
समय आ गया है , दिखा दो दुनिया को….


Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *